city-and-states

गोरखपुर: ओमिक्रॉन से लड़ने में कारगर है वैक्सीन, सीएमओ कर रहे जागरूक

सीएमओ ने बताया कि कोविड के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से लड़ने में कोरोना की तीनों वैक्सीन कारगर हैं। उन्होंने गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं और बुजुर्गों से टीके की दोनों डोज लगवाने की अपील की है। कहा कि यदि कोई भी विदेश या देश के अन्य प्रदेशों से आता है तो वह कोविड की जांच जरूर कराएं। साथ ही कुछ दिनों तक आइसोलेट रहे। सीएमओ डॉ. आशुतोष कुमार दूबे ने बताया कि कोविड टीकाकरण के लिए टीमें घर-घर जा रही हैं। कुछ लोगों में भ्रांति है कि गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिला को टीका नहीं लगवाया जा सकता है। यह बात ही निराधार है। टीका न केवल मां के लिए सुरक्षित है, बल्कि उससे बच्चे को भी प्रतिरोधक क्षमता मिलती है। कोविड की लड़ाई में जच्चा-बच्चा की सुरक्षा के लिए कोविड टीके की अहम भूमिका है। टीकाकरण के लिए 350 से ज्यादा बूथ सक्रिय हैं। घर-घर जाकर भी बीमार लोगों को टीका लगाया जा रहा है। जिले में टीका एक्सप्रेस भी चल रही है। दो कंपनी के लग रहे टीके, तीसरा भी जल्द मिलेगा जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एनके पांडेय ने बताया जिले में दो कंपनी के टीके लगाए जा रहे हैं। इनमें कोविशील्ड और कोवैक्सीन शामिल हैं। जायकोव-डी की भी वैक्सीन नए साल में मिल जाएगी। यह पेनलेस टीका है। इसे सुई से नहीं लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिले में अभी करीब नौ लाख लोग ऐसे हैं, जिन्हें टीके की कोई डोज नहीं लगी है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Dec 25, 2021, 18:56 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


सीएमओ ने बताया कि कोविड के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से लड़ने में कोरोना की तीनों वैक्सीन कारगर हैं।