international

Russia-Ukraine War: रेडक्रॉस ने यूक्रेन के युद्धबंदियों का किया पंजीकरण, जेलेंस्की के सलाहकार बोले- हम संघर्षविराम की पेशकश नहीं करेंगे

रूस और यूक्रेन युद्ध के बीच हो रही जंग तीन महीन पूरे करने वाली है। इस बीच रूसी सेना ने बृहस्पतिवार को जानकारी दी थी कि मारियुपोल में छुपे यूक्रेन के और लड़ाकों ने आत्मसमर्पण किया है। रूसी सेना के बयान के मुताबिक, अब इस्पात संयंत्र को छोड़ कर आत्मसमर्पण करने वाले यूक्रेनी लड़ाकों की संख्या बढ़कर 1730 पहुंच गई है। वहीं, रूस और यूक्रेन के बीच चल रही जंग के बीच रेडक्रॉस ने यूक्रेन के सैकड़ों युद्धबंदियों को लेकर बड़ा बयान दिया है। रेडक्रॉस ने रूस द्वारा बंदी बनाए गए यूक्रेन के लड़ाकों का पंजीकरण शुरू किया है। रेडक्रॉस कर रहा पंजीकरण इंटरनेशल कमेटी ऑफ रेड क्रॉस ने कहा कि यूक्रेन के युद्धबंदियों का पंजीकरण मंगलवार को शुरू किया गया था। जिनका पंजीकरण किया गया है उनमें जख्मी लड़ाके भी शामिल हैं। यह रूस और यूक्रेन के बीच एक समझौते के तहत हुआ है। रेडक्रास ने बताया कि पंजीकरण का काम गुरुवार को भी जारी रहा। जिनेवा संधि के नियमों का दिया हवाला इस बीच, रेडक्रॉस ने जिनेवा संधि के नियमों का हावला देते हुए कहा है कि संगठन को युद्धबंदियों से बिना गवाहों के बात करने की इजाज़त देनी चाहिए और उनसे मिलने पर रोक नहीं होनी चाहिए। संगठन ने यह नहीं बताया कि कितने युद्धबंदी शामिल हैं। दूसरी ओर अभी ये भी स्पष्ट नहीं हुआ है कि इस्पात संयंत्र में अब कितने लड़ाके रह गए हैं। जेलेंस्की के सलाहकार मिखाइलो पोडोल्याक ने किया ट्वीट वहीं, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के सलाहकार मिखाइलो पोडोल्याक ने बृहस्पतिवार को युद्धविराम को लेकर ट्विटर पर अपनी टिप्पणी दी। उन्होंने ट्वीट किया कि इस स्तर पर हम संघर्षविराम की पेशकश नहीं करेंगें और रूस द्वारा सेना वापस बुलाए बिना यह नामुमकिन है। यूक्रेन की सेना ने दी युद्ध के हालातों की जानकारी वहीं, यूक्रेन की सेना ने बृहस्पतिवार की सुबह संवाददाता सम्मेलन में युद्ध के हालातों की जानकारी देते समय मारियुपोल का कोई जिक्र नहीं किया। सेना ने बताया कि रूसी सेना पूर्व में कई मोर्चों पर अभियान चला रही है। रूसी सैनिकों को कई मोर्चों पर सफलतापूर्वक खदेड़ा जा रहा है। दोनेत्स्क क्षेत्र में अलगाववादियों के अधिकारियों ने बताया कि पिछले 24 घंटे में यूक्रेन की बमबारी में दो आम नागरिकों की मौत हो गयी और पांच अन्य घायल हो गए। जिसको देखते हुए यूक्रेन ने अपने लड़ाकों को अपनी जान बचाने के लिए संयंत्र को छोड़ने का आदेश दिया था। जिसके बाद यूक्रेन के लड़ाके मारियुपोल शहर में स्थित अजोवस्तल इस्पात संयंत्र से बाहर आकर आत्मसमर्पण कर रहे हैं, हालांकि उनके साथ क्या किया जाएगा, इसके लेकर कोई स्पष्टता नहीं है। रूस ने दी युद्ध अपराध के तहत मुकदमा चलाने की धमकी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अजोवस्तल इस्पात संयंत्र से बाहर आकर आत्मसमर्पण करने वाले कुछ लड़ाकों को रूसी सैनिक मॉस्को समर्थित अलगाववादियों के कब्जे वाले इलाकों में ले गए हैं। हालांकि, यूक्रेन ने कैदियों की अदला बदली होने पर अपने सैनिकों को वापस पाने की उम्मीद जताई है। वहीं रूस ने उनमें से कुछ पर युद्ध अपराध के तहत मुकदमा चलाने की धमकी दी है। रूस की मुख्य जांच संस्था का कहना है कि वह इन सैनिकों से पूछताछ करना चाहती है ताकि यह पता लगाया जा सके कि क्या वे आम नागरिकों के खिलाफ अपराध में शामिल थे। इस बीच यूक्रेन की ओर से चलाए गए पहले युद्ध अपराध मुकदमे में पकड़े गए रूसी सैनिक ने एक आम नागरिक की हत्या करने का जुर्म बुधवार को कबूल किया है और उसे उम्र कैद तक की सज़ा हो सकती है। रूस की बमबारी में चार लोगों की मौत लुहांस्क के गवर्नर सेरही हेदई ने जानकारी देते हुए बताया कि पूर्वी डोनबास क्षेत्र में रूस की बमबारी में सिविरोदोनेत्स्क शहर में चार लोगों की मौत हो गयी। उन्होंने यह भी बताया कि बुधवार को भी हमले में तीन लोग जख्मी हो गए थे। वहीं, कुर्स्क प्रांत के गवर्नर ने कहा कि यूक्रेन की बमबारी में एक ट्रक चालक की मौत हो गयी और कई अन्य नागरिक घायल हो गए। दोनेत्स्क क्षेत्र में अलगाववादियों के अधिकारियों ने बताया कि पिछले 24 घंटे में यूक्रेन की बमबारी में दो आम नागरिकों की मौत हो गयी और पांच अन्य घायल हो गए। ब्रिटेन ने नए प्रतिबंधों के साथ रूसी एयरलाइनों को बनाया निशाना ब्रिटेन ने नए प्रतिबंध लगाकर रूसी एयरलाइनों को निशानाबनाया है। जिसके बाद अब रूस की सरकारी और सबसे बड़ी एयरलाइन एअरोफ़्लोत, यूराल एयरलाइंस और रसिया एयरलाइंस गुरुवार को बोरिस जॉनसन सरकार द्वारा लगाए गए नए प्रतिबंधों के तहत ब्रिटेन के हवाई अड्डों पर अपने आकर्षक लैंडिंग स्लॉट बेचने में असमर्थ होंगी। रूस-यूक्रेन संघर्ष के खिलाफ प्रतिक्रिया के रूप में लगाए जा रहे ये अतिरिक्त प्रतिबंध रूस को अनुमानित 50 मिलियन के लैंडिंग स्लॉट को बेचने से रोकेंगे। ब्रिटेन के विदेश सचिव लिज़ ट्रस ने कहा कि जब तक रूसी राष्ट्रपति पुतिन यूक्रेन पर अपना बर्बर हमला जारी रखेंगे, हम रूसी अर्थव्यवस्था को निशाना बनाना जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि हमने पहले ही रूसी एयरलाइनों के लिए अपना हवाई क्षेत्र बंद कर दिया है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: May 19, 2022, 18:58 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


इंटरनेशल कमेटी ऑफ रेड क्रॉस ने कहा कि यूक्रेन के युद्धबंदियों का पंजीकरण मंगलवार को शुरू किया गया था। जिनका पंजीकरण किया गया है उनमें जख्मी लड़ाके भी शामिल हैं।