city-and-states

रमजान की रौनकों को लगा ग्रहण: इस बार सब पहले जैसा नहीं, सहरी में घटेगा और इफ्तार में हर दिन बढ़ेगा एक मिनट

कोरोना की महामारी के बीच मुसलमानों का सबसे पवित्र महीना रमजान शनिवार से शुरू हो गया है। इस पाक महीने में मुसलमानों के लिए सब कुछ पहले जैसा नहीं रहने वाला है। मुसलमानों के लिए रमजान का महीना इबादतों भरा होता है। अपने रब की रजा खुशी के लिए मुसलमान इस महीने में रोजा रखते हैं, नमाजों की पाबंदी पहले से ज्यादा होती है, साथ ही खास तरावीह की नमाज चांद देखने के साथ शुरू हो जाती है। इस बार ये सब थोड़ा अलग होगा। पहले की तरह इस बार मस्जिदें गुलजार नहीं हो सकेंगी, लोगों को घरों में रहकर हर तरह की इबादत करनी होगी। क्योंकि मस्जिद में नमाज अदा करने की सूरत में लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर सकेंगे। इससे कोरोना फैलने का खतरा बढ़ जाएगा। यही वजह है कि सरकार के अलावा मुस्लिम धर्मगुरु भी लोगों से लगातार अपील कर रहे हैं कि रमजान के दौरान घर पर रह कर ही इबादत करें।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Apr 25, 2020, 16:14 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




रमजान की रौनकों को लगा ग्रहण: इस बार सब पहले जैसा नहीं, सहरी में घटेगा और इफ्तार में हर दिन बढ़ेगा एक मिनट #Ramdan2020 #Ramzan2020 #UpNews #CoronaEfectOnRamzan #RamzanAmidLockdown #CoronavirusUpdate #CoronaUpdateInIndia #रमजान2020 #रमजान #ShineupIndia