national

कोरोना की तीसरी लहर से पहले प्रवासियों में सफर की बेकरारी, फिर बढ़ने लगी है ट्रेनों की मांग

देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने हालात खराब कर दिए हैं। इस महामारी के कारण दवाइयों से लेकर अस्पतालों में बेड की किल्लत बनी हुई है। आलम यह है कि हर दिन तीन लाख से ज्यादा नए केस सामने आ रहे हैं। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकारों ने एहतियातन लॉकडाउन भी लगाया। इससे बड़े शहरों से मजदूरों का पलायन भी बहुत तेजी से हुआ है। अप्रैल महीने में दूसरी लहर के दौरान मुंबई, दिल्ली सहित अन्य बड़े शहरों से 600 अधिक #39;ग्रीष्मकालीन विशेष#39; ट्रेनें 100 फीसदी क्षमता के साथ प्रवासियों को लेकर चलीं। अब कोरोना की तीसरी लहर के डर फिर से लोगों को अपने खाने-कमाने की चिंता हो रही है। यही वजह है कि मजदूर अपने गांव या शहरों के लिए फिर से निकल कर रहे हैं। बड़े शहरों से ट्रेनों की मांग फिर बढ़ती हुई दिखाई दे रही है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: May 12, 2021, 18:42 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने हालात खराब कर दिए हैं। इस महामारी के कारण दवाईयों से लेकर अस्पतालों में बेड की किल्लत बनी हुई है। आलम यह है कि हर दिन एक लाख से ज्यादा नए केस सामने आ रहे हैं।