city-and-states

कोरोना: दूसरी लहर ढा रही अलग कहर, सीधा फेफड़ों पर कर रही वार, इस दिक्कत को न करें नजरअंदाज 

कोरोना महामारी के कारण होने वाली मौतों की संख्या दिनोंदिन तेजी से बढ़ रही है। महज आठ दिनों में 63 मरीजों की जान चली गई है। चिंता की बात यह है कि इनमें से 50 ऐसे मरीज थे, जिन्हें सांस संबंधी परेशानी थी। विशेषज्ञों का कहना है कि मृतकों में सांस की बीमारी या फेफड़े में संक्रमण वाले मरीजों की संख्या अन्य मरीजों की तुलना में तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में जरूरी है कि जरा भी लापरवाही न की जाए। विशेषज्ञ कोरोना की दूसरी लहर को पहली लहर से बिल्कुल अलग ठहरा रहे हैं। उनका कहना है कि पहली लहर के मृतकों में सबसे ज्यादा संख्या अन्य गंभीर बीमारियों जैसे उच्च रक्तचाप, किडनी, कैंसर व मधुमेह से जूझ रहे मरीजों की थी, जो इस बार बिल्कुल अलग रूप में सामने आ रही है। मौजूदा समय में सांस संबंधी बीमारियों वाले मरीजों पर मौत का खतरा सबसे ज्यादा मंडरा रहा है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: May 04, 2021, 16:44 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »

कोरोना महामारी के कारण होने वाली मौतों की संख्या दिनोंदिन तेजी से बढ़ रही है। महज आठ दिनों में 63 मरीजों की जान चली गई है। चिंता की बात यह है कि इनमें से 50 ऐसे मरीज थे, जिन्हें सांस संबंधी परेशानी थी।