city-and-states

हैदराबाद के वैज्ञानिकों को मिला कोरोना का नया स्ट्रेन, आक्रामक क्षमता पर शुरू हुआ अध्ययन

अब तक दुनिया भर में लाखों लोगों की जान लेने वाले कोरोना वायरस का एक और आक्रामक स्ट्रेन सामने आया है। वैज्ञानिक इसके असर को लेकर अध्ययन कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश, दिल्ली और महाराष्ट्र सहित देश के कई हिस्सों में मरीजों में कोरोना वायरस का यह स्ट्रेन ए3आई मिला है। हैदराबाद की प्रयोगशाला में वैज्ञानिकों द्वारा खोजे गए इस नए स्ट्रेन का प्रसार लगभग ए2ए सट्रेन के बराबर ही है। जानकारी के अनुसार, भारत में अब तक कोरोना वायरस के 640 जीनोम का पता लगाया गया है, लेकिन 25 मई तक एकत्रित 361 में 213 जीनोम को गुणवत्ता के लिए आज से बेहतर माना गया। यह सभी जीनोम देश के 7 बड़े अनुसंधान केंद्रों से एकत्रित किए गए हैं। हैदराबाद स्थित सेंटर फॉर सेल्यूलर एंड मॉलेक्युलर बायोलॉजी सीसीएमबी के निदेशक डॉ. राकेश मिश्रा ने बताया कि पांच म्यूटेशन कि अभी तक भारतीय वैज्ञानिकों के पास जानकारी थी। लेकिन छठा म्यूटेशन भी अध्ययन में मिला है। 213 जिलों में से 62 में मिला ए3ए स्ट्रेन कितना असरदार है यह कोई नहीं जानता। इसलिए तमिलनाडु, तेलंगाना, महाराष्ट्र दिल्ली और गुजरात के कुछ अस्पतालों से सैंपल मांगे गए हैं, ताकि नए और ज्यादातर मरीजों में मिल रहे इस स्ट्रेन की ताकत का पता लगाया जा सके। स्ट्रेन ए2ए और अब ए3आई के सबसे ज्यादा मरीज देश के जिन हिस्सों में कोरोना वायरस का प्रभाव सबसे ज्यादा है, वहीं देखने को मिल रहे हैं। सीसीएमबी के अध्ययन के अनुसार, बिहार, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, गुजरात, मध्य प्रदेश और तेलंगाना में सबसे ज्यादा ए3आई स्ट्रेन पाया गया है। इन राज्यों में कोरोना वायरस स्ट्रेन मरीजों में मिल रहे हैं। जबकि हरियाणा जम्मू-कश्मीर ओडिशा और राजस्थान में वायरस का एक ही स्ट्रेन अब तक मिला है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jun 07, 2020, 14:16 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




हैदराबाद के वैज्ञानिकों को मिला कोरोना का नया स्ट्रेन, आक्रामक क्षमता पर शुरू हुआ अध्ययन #CoronaVirusInIndia #NewCoronaStrains #CoronaVirusUpdates #CoronaUpdateInWorld #CoronaUpdateInIndia #ShineupIndia