national

National Doctors Day 2020: समर्पण को सलाम, शादी के मंडप से अस्पताल तक

जनवरी अंत में आरएमएल अस्पताल जॉइन करने के बाद 12 मार्च को मेरी शादी थी। मैंने शादी के बाद अंडमान निकोबार घूमने का प्लान बनाया था। लेकिन जब मैं सात फेरे ले रहा था, तभी मेरे दोस्तोंने बताया कि छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। सभी को अस्पताल बुलाया है। इमरजेंसी है। जब भी सोचता हूं तो मेरी कहानी फिल्मी लगती है, लेकिन हकीकत यही है कि मैंने घर वालों को समझाया औरदिल्ली निकल गया। अब तक मैं 29 कोरोना संक्रमित महिलाओं की प्रसूति करा चुका हूं। मां का दूध लेने के बाद दूसरे वार्ड में भर्ती बच्चे तक उसे पहुंचाने और दूध पिलाने का आइडिया मैंने ही सबसेपहले आरएमएल में शुरू किया था, जिसके बाद दिशा-निर्देशों में बदलाव किया गया:-डॉ. राहुल चौधरी असिस्टेंट प्रोफेसर आरएमएल अस्पताल (राजस्थान के सीकर निवासी। महाराष्ट्र के सोलापुर स्थित डॉ. वीएम शासकीय मेडिकल कॉलेज से चिकित्सकीय शिक्षा लेने के बाद दिल्ली के हिंदूराव मेडिकल कॉलेज से पीजी किया और कुछ दिन पहले ही आरएमएल में तैनात हुए। ) आगे की स्लाइड में पढ़िएः-पीपीई किट ने कर दिया बेहोश, नहीं टूटे हौसले

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jul 01, 2020, 07:21 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




National Doctors Day 2020: समर्पण को सलाम, शादी के मंडप से अस्पताल तक #ImportanceOfDoctore #RmlHospital #Coronavirus #NationalDoctorsDay2020 #ShineupIndia