city-and-states

कोरोना से जंग: जज्बे को सलाम, जुड़वां नवजातों का अंतिम संस्कार कर लौट आए ड्यूटी पर

कोरोना महामारी के खिलाफ जंग लड़ रहे योद्धा फर्ज के लिए दिल में असीम दर्द लिए भी ड्यूटी निभा रहे हैं। अलीगढ़ निवासी एक कांस्टेबल के जुड़वा बेटों का छह दिनों के अंतराल पर निधन हो गया। उनके पैदा होने की खुशी में वह घर नहीं गए थे, लेकिन जब बुरी खबर सुनी तो अपनों के बीच पहुंचे और छह दिनों में दोनों बच्चों का अंतिम संस्कार कर फिर ड्यूटी पर लौट आए। देश की सेवा में कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो खुद बीमार हैं, लेकिन इसका असर अपनी ड्यूटी पर नहीं पड़ने दे रहे। यह भी पढ़ें:संकट के सिपाही: डेढ़ साल के बेटे को घर छोड़ रात में ड्यूटी दे रहीं मुजफ्फरनगर की महिला सिपाही छाया मुजफ्फरनगर जनपद में भोपा थाना क्षेत्र की शुकतीर्थ पुलिस चौकी पर तैनात कांस्टेबल मोहित के जज्बे को सलाम है। मोहित जिला अलीगढ़ के गांव वैंना के रहने वाले हैं। 21 अप्रैल को नोएडा के अस्पताल में उनकी पत्नी साक्षी ने दो जुड़वा बेटों को जन्म दिया था। एक दिन बाद ही 22 अप्रैल को अस्पताल में ही एक बेटे की मौत हो गई। एक बेटे की मौत की खबर पाकर वह अवकाश लेकर अस्पताल पहुंचे। इतना ही नहीं छह दिन के अंतराल में उसका दूसरा बेटा भी चल बसा। मोहित उसका भी अंतिम संस्कार कर पांच दिन बाद ही ड्यूटी पर लौट आए। मोहित के पिता जयप्रकाश पिछले तीन वर्षों से कैंसर की बीमारी से लड़ रहे हैं। उनकी बीमारी का सदमा मां राजेश सहन नहीं कर पाई थीं। गत वर्ष मां का देहांत हो गया। दोनों जुड़वा बेटों की मौत से पत्नी साक्षी पर भी गमों का पहाड़ टूटा है। वह गांव में ही बीमार ससुर की देखरेख कर रही हैं। नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: May 08, 2020, 19:32 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




कोरोना से जंग: जज्बे को सलाम, जुड़वां नवजातों का अंतिम संस्कार कर लौट आए ड्यूटी पर #CoronavirusTreatment #CoronavirusInMeerut #Coronavirus #CoronavirusIndia #CoronaNewCase #CoronaUpdateInIndia #WestUpCoronaUpdate #CoronavirusUpdate #CoronavirusInWestUp #ShineupIndia