national

संक्रमितों में नहीं मिला लोपिनवीर-रितोनवीर दवा का असर: शोध

एचआईवी संक्रमण में इस्तेमाल लोपिनवीर-रितोनवीर दवा का कोरोना मरीजों में कोई असर नहीं दिखाई दिया है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने लंबे अध्ययन के बाद इसकी पुष्टि की है। ब्रिटेन के 176 अस्पतालों में भर्ती 11,800 मरीजों पर कुछ दवाओं के परीक्षण किए गए थे, जिनमें लोपिनवीर-रितोनवीर दवा भी शामिल है। इसे लेकर विशेषज्ञों का कहना है, जिन देशों में कोविड मरीजों को ये दवाएं दी जा रही हैं, उन्हें कोविड उपचार प्रबंधन में बदलाव करना चाहिए। अध्ययन के अनुसार, 1596 मरीजों को यह दवा दी गई। दवा देने से पहले इनमें चार फीसदी मरीजों को वेंटिलेटर देना जरूरी था और 70 फीसदी मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत थी। जबकि 26 फीसदी मरीजों में किसी भी प्रकार की सांस संबंधी परेशानी नहीं थी। परीक्षण के दौरान मरीजों पर दवाओं का असर दिखाई नहीं दिया। सामान्य तौर पर यह दवा एंटीवायरल के रुप में जानी जाती है। एचआईवी उपचार में इसका इस्तेमाल किया जाता है। भारत में ज्यादातर इस दवा का निर्माण होने के बाद निर्यात किया जाता है। फरवरी में आईसीएमआर ने कोविड मरीजों के उपचार में इस दवा को शामिल करने की मंजूरी दी थी।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jul 01, 2020, 08:28 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




संक्रमितों में नहीं मिला लोपिनवीर-रितोनवीर दवा का असर: शोध #CoronavirusInIndia #Covid-19InIndia #Lopinavir #Hiv #ShineupIndia