city-and-states

राजस्थान में टिड्डियों का हमला, लोगों ने बर्तन बजाकर खेतों से किया दूर, ड्रोन से हो रहा दवा का छिड़काव

टिड्डियों के दल ने भारत के कई राज्यों में धावा बोला है। मंगलवार को टिड्डियों का दल राजस्थान के नागौर जिले में पहुंचा। लोगों ने उन्हें खेतों से दूर रखने के लिए बर्तनों को बजाया। एडीएम ने बताया कि यह समय टिड्डियों के प्रजनन का है, इसलिए समस्या बढ़ने वाली है। स्थानीय प्रशासन इन्हें काबू करने के लिए अभियान चला रहा है। #WATCH Rajasthan: Swarm of locusts entered Nagaur yesterday. People clanged utensils to scare them away. Visuals from Didwana, ADM says, quot;This is their breeding season. So the problem is going to increase. The local administration is carrying out operations to control it.quot; pic.twitter.com/FCcunLpECOmdash; ANI (@ANI) July 1, 2020 वहीं, टिड्डियों का दल जैसलमेर जिले में पहुंच गया है। यहां टिड्डयों को काबू करने के लिए ड्रोन के माध्यम से केमिकल का छिड़काव किया जा रहा है। #WATCH Rajasthan: Drones being used to spray chemicals as swarms of locusts arrive in Jaisalmer. (30.06.2020) pic.twitter.com/HZRilUO1M7mdash; ANI (@ANI) July 1, 2020 दुनिया की सबसे खतरनाक कीट होती हैं टिड्डियां बता दें कि, दुनियाभर में टिड्डियों की 10 हजार से ज्यादा प्रजातियां पाई जाती हैं, लेकिन भारत में केवल चार प्रजातिही मिलती हैं। इसमें रेगिस्तानी टिड्डा, प्रव्राजक टिड्डा, बंबई टिड्डा और पेड़ वाला टिड्डा शामिलहैं। इनमें रेगिस्तानी टिड्डों को सबसे ज्यादा खतरनाक माना जाता है। ये हरे-भरे घास के मैदानों में आने पर खतरनाक रूप ले लेते हैं। कृषि क्षेत्राधिकारियों के अनुसार, रेगिस्तानी टिड्डों की वजह दुनिया की दस फीसदी आबादी का जीवन प्रभावित हुआ है। ऐसे पनपती हैं टिड्डियां टिड्डियों के भारी संख्या में पनपने का मुख्य कारण वैश्विक तापवृद्धि के चलते मौसम में आ रहा बदलाव है। विशेषज्ञों ने बताया कि एक मादा टिड्डी तीन बार तक अंडे दे सकती है और एक बार में 95-158 अंडे तक दे सकती हैं। टिड्डियों के एक वर्ग मीटर में एक हजार अंडे हो सकते हैं। इनका जीवनकाल तीन से पांच महीनों का होता है। नर टिड्डे का आकार 60-75 एमएम और मादा का 70-90 एमएम तक हो सकता है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jul 01, 2020, 07:59 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




राजस्थान में टिड्डियों का हमला, लोगों ने बर्तन बजाकर खेतों से किया दूर, ड्रोन से हो रहा दवा का छिड़काव #LocustAttack #LocustAttackInIndia #ShineupIndia