national

आईआरसीटीसी के पास दस लाख रुपये का रिफंड, कोरोना काल की टिकट बुकिंग लेकिन अब बैंक खाते बंद

कोरोना की वजह से कभी ना रुकने वाली ट्रेन की रफ्तार पर भी ब्रेक लग गए। ऐसा पहली ही बार हुआ होगा कि रेल मंत्रालय को ट्रेनों का संचालन बंद करना पड़ा। ट्रेन का संचालन बंद करने के बाद आईआरसीटीसी के सामने अब एक और समस्या खड़ी हो गई है। कोरोना काल के दौरान जितने टिकट कटाए थे, लोग उसका रिफंड लेने के लिए तैयार नहीं है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) इस समय इसलिए ज्यादा परेशान है क्योंकि टिकट रद्द होने के बाद रिफंड लेने वाला कोई नहीं है। आईआरसीटीसी के पास मौजूदा समय में रद्द किए गए टिकटों के दस लाख रुपये से ज्यादा का रिफंड जमा है। हालांकि आईआरसीटीसी लोगों से रिफंड वापस लेने का अनुरोध कर चुका है लेकिन कोई भी व्यक्ति अपना नया खाता देकर रिफंड वापस नहीं ले रहा है। इस बात की जानकारी बुधवार को एक सवाल के जवाब में रेलमंत्री पीयूष गोयल ने दी। आईआरसीटीसी के अधिकारी का कहना है कि जिन बैंक खातों से टिकट बुक कराए गए थे, वो बंद हो चुके हैं, जिसके बाद उन लोगों को रिफंड नहीं भेजा जा पा रहा है। लोकसभा में कार्रवाई के दौरान रेलमंत्री पीयूष गोयल ने जानकारी दी कि 22 मार्च से 12 अगस्त के बीच रेलवे ने 3,371.50 करोड़ रुपये यात्रियों को रिफंड के तौर पर वापस किए। ये टिकट 14 अप्रैल से पहले बुक किए गए थे।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Sep 17, 2020, 10:17 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




आईआरसीटीसी के पास दस लाख रुपये का रिफंड, कोरोना काल की टिकट बुकिंग लेकिन अब बैंक खाते बंद #Railway #Irctc #TicketRefund #TicketCancellation #RailTicketRefunds #PiyushGoyal #Loksabha #Corona #RailwayTicketCancellationDuringCovid19 #ShineupIndia