city-and-states

दोस्ती से मना करने पर भी नहीं माना तो करा दी हत्या

आगरा। शाहगंज के नगला मोहन का रहने वाला सनी एक महिला से दोस्ती के चक्कर में मारा गया था। वह महिला से दोस्ती करना चाहता था। महिला ने अपने मित्र को इस बारे में बताया था। उसके समझाने पर भी वो नहीं माना। इस पर महिला के मित्र ने दो साथियों के साथ मिलकर उसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी। पुलिस ने महिला और उसके मित्र के साथी को पकड़कर यह खुलासा किया है।इस मामले में हरियाणा निवासी मुकेश कुमार ने मुकदमा दर्ज कराया था। उनका बेटा सनी नगला मोहन, शाहगंज में रहता था। 21 नवंबर को उसे रेखा नाम की महिला ने फोन करके बोदला बुलाया था। उसके साथ मुकेश जाट भी था। 22 नवंबर को रेखा सनी का मोबाइल घर पर दे गई थी। इसमें सिम और चिप नहीं थी। 23 नवंबर को सनी का शव यमुना के किनारे पर मिला था। उसे रेखा और मुकेश को सनी के साथ कुछ लोगों ने देखा भी था। पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। इसमें रेखा और मुकेश पर हत्या का आरोप था।एसपी सिटी विकास कुमार ने बताया कि पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी। शुक्रवार को टेढ़ी बगिया स्थित आंबेडकर पार्क से महिला रेखा को पकड़ लिया। उसके पास से एक मोबाइल बरामद हुआ। उससे पूछताछ में पता चला कि वह फैक्टरी में काम करती है। उसकी दोस्ती टेंपो चालक मुकेश जाट से है। वह उसे रोजाना फैक्टरी छोड़ने और लेने जाता था। सनी उसका पीछा करता था। उस पर दोस्ती का दबाव बना रहा था। कई बार रास्ते में भी रोक लिया था। उससे कई बार मना किया, लेकिन वो नहीं माना। रेखा ने यह बात मुकेश को बताई। उसने सनी को बहाने से बोदला बुलाया। मुकेश ने सनी को अपने संबंध की जानकारी दी। पीछा करने से मना कर दिया। मगर, सनी नहीं माना। उसने कहा कि वो रेखा को नहीं छोड़ेगा। इस पर कहासुनी हो गई। मुकेश ने अपने दोस्त टेंपो चालक विशाल और पवन राठौर को बुला लिया। बाद में वो उसे पार्टी और दोस्ती कराने का झांसा देकर अपने साथ टेंपो से ले आए। गोकुल नगर में सनी को शराब पिला दी। इसके बाद यमुना किनारे पर जंगल में ले गए, जहां पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने मुकेश के साथी विशाल को पकड़ लिया। मुकेश जाट फरार हो गया है। उसकी तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। उसके खिलाफ पहले भी हत्या का मुकदमा दर्ज हो चुका है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Dec 04, 2021, 01:54 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


दोस्ती से मना करने पर भी नहीं माना तो करा दी हत्या