national

आखिर कैसे भूल सकते हैं 2015 में बिहार विधानसभा चुनाव हारने का दर्द?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक वाक्य ने उनके मंगलवार के संबोधन का पूरी मिजाज बदल कर रख दिया। प्रधानमंत्री ने घोषणा की कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दिवाली और छठ पूजा तक जारी रहेगी। प्रधानमंत्री ने ऐसी घोषणा कोविड-19 संक्रमण के कारण देश के गरीबों के सामने पैदा हुए संकट को देखते हुए की है। लेकिन उनके एक वाक्य ने पूरे संबोधन को राजनीतिक रंग दे दिया। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री के वक्तव्य पर एक शेर के माध्यम से शायराना अंदाज में प्रतिक्रिया दी है। राहुल ने कहा कि-इधर उधर की बात न कर, ये बता कि काफिला कैसे लुटा। मुझे रहजनों से गिला तो है, पर तेरी रहबरी का सवाल है। कांग्रेस के प्रवक्ता प्रेम चंद मिश्रा ने भी सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की ओर से छठ शब्द का प्रयोग दर्शाता है कि वह हमेशा राजनीति से प्रेरित होते हैं। प्रधानमंत्री के वक्तव्य पर राष्ट्रीय जनता दल के नेताओं ने भी प्रतिक्रिया दी है। आरजेडी के नेता शक्ति सिंह यादव का कहना है कि कोविड-19 से निबटने में सरकार फेल हो गई। टेस्टिंग, इलाज आदि की उचित व्यवस्था नहीं हो पाई और अब सरकार गरीबों के निवाले की बात करके उनके जज्बात से खेल रही है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jul 01, 2020, 07:17 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




आखिर कैसे भूल सकते हैं 2015 में बिहार विधानसभा चुनाव हारने का दर्द? #PmModi #PmGaribKalyanYojana #Unlock2.0 #CoronavirusUnlock2.0 #Coronavirus #ShineupIndia