city-and-states

हरियाणा: 18 जुलाई से फिर तेज बारिश के आसार, अब तक प्रदेश में 26 एमएम कम हुई बरसात

हरियाणा में एक जून से शुरु हुए मानसूनी सीजन में अब तक सामान्य से 28 प्रतिशत कम बारिश हुई है। हालांकि मानसून की सक्रियता के कारण बुधवार को कई क्षेत्रों में तेज बारिश हुई। भारत मौसम विज्ञान विभाग के आंकड़ों के अनुसार, हरियाणा राज्य में मानसून की सक्रियता के बावजूद 1 जून से 14 जुलाई तक औसतन 83.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है जो सामान्य बारिश (112.9 मिलीमीटर) से 26 प्रतिशत कम है। हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय (एएचयू) के कृषि मौसम विभाग के अनुसार, प्रदेश में दो दिन मौसम परिवर्तनशील रहेगा और कहीं-कहीं हल्की बारिश होगी। इसके बाद 18 से 21 जुलाई तक फिर से प्रदेश में तेज बारिश की संभावना है। एचएयू के कृषि मौसम विभाग के अध्यक्ष डॉ. मदन खिचड़ के अनुसार, प्रदेश में 15 व 16 जुलाई को मौसम आमतौर पर परिवर्तनशील रहने की संभावना है। इस दौरान उत्तरी हरियाणा में कहीं-कहीं व दक्षिण पाश्चिमी क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश के आसार हैं। इसके बाद 17 जुलाई से बंगाल की खाड़ी में एक और लो प्रेशर एरिया बनने से मानसून की सक्रियता फिर से बढ़ने की संभावना है, जिसके कारण प्रदेश के सभी क्षेत्रों में गरज-चमक व हवाओं के साथ 18 जुलाई से 21 जुलाई के बीच बारिश होने की संभावना है। इस दौरान कुछ एक क्षेत्रों में तेज व भारी बारिश होने की भी संभावना है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jul 15, 2021, 02:20 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


हरियाणा में एक जून से शुरु हुए मानसूनी सीजन में अब तक सामान्य से 28 प्रतिशत कम बारिश हुई है। हालांकि मानसून की सक्रियता के कारण बुधवार को कई क्षेत्रों में तेज बारिश हुई।