city-and-states

गुरुग्राम में 100 फीसदी टीकाकरण: कोरोना का सुरक्षा चक्र हुआ मजबूत, शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्ति से जिला प्रदेश में अव्वल

सौ फीसदी पात्र आबादी का टीकाकरण करने वाला गुरुग्राम प्रदेश ही नहीं एनसीआर का पहला ऐसा महानगर बन गया है जिसकी आबादी 25 लाख है। यह दावा है स्वास्थ्य विभाग का। विभाग ने आंकड़े जारी कर इस दावे को पुष्ट करने का भी प्रयास किया है। आंकड़ों के अनुसार जिले की कुल 18 लाख तीन हजार आबादी में से 18 लाख आठ हजार 876 लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जा चुकी हैं। विभाग को 25 लाख आबादी का अनुमान दिया गया था, जिसमें से 18 लाख को 18 वर्ष से ऊपर आंका गया। इस लिहाज से स्वास्थ्य अधिकारी यह दावा कर रहे हैं। इसके साथ ही 128.6 प्रतिशत आबादी को पहली डोज के आंकड़े भी प्रस्तुत किए गए। आंकड़ों के अनुसार 23 लाख 19 हजार 720 लोगों को पहली डोज दी गई है। नई-नई पहल बनीं मददगार : कोरोना की दूसरी लहर के दौरान प्रदेश में सबसे अधिक प्रभावित रहे गुरुग्राम के सामने मास्क, सैनिटाइजर और शारीरिक दूरी के साथ दूसरा कोई मजबूत सुरक्षा चक्र बड़ी चुनौती था। इसलिए जल्द से जल्द से अधिक से लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया। हर रोज यहां सैकड़ों की संख्या में आने-जाने वाले प्रवासियों के कारण यह लक्ष्य बड़ी चुनौती बना, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने नई-नई पहल कर लोगों के टीकाकरण को रफ्तार दी। इन पहल को देश भर में लागू किया गया। मॉल में ड्राइव थ्रू, थर्ड जेंडर का टीकाकरण, मेगा वैक्सीनेशन कैंप, हर घर दस्तक इनमें प्रमुख हैं। अब बच्चों के टीके की तैयारी : पात्र आबादी का सौ फीसदी टीकाकरण करने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने बच्चों के टीकारण की तैयारियां भी पूरी कर ली है। इंतजार सरकार से हरी झंडी मिलने का है। सिविल सर्जन डॉ. विरेंद्र यादव के अनुसार विभाग ने0 से 6 वर्ष व 7 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों का डाटा एकत्रित कर लिया है। शून्य से छह साल तक का डाटा पोलियो अभियान से लिया है, इससे ऊपर के बच्चों का स्कूल-कॉलेज से एकत्रित किया है। जिला में कुल 10 से 12 लाख बच्चें हैं। बूस्टर डोज के सवाल पर उन्होंने कहा कि बूस्टर डोज के लिए सरकार अगर कोई गाइडलाइन देगी तो विभाग उसके लिए भी तैयार है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Dec 22, 2021, 11:39 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


सौ फीसदी पात्र आबादी का टीकाकरण करने वाला गुरुग्राम प्रदेश ही नहीं एनसीआर का पहला ऐसा महानगर बन गया है जिसकी आबादी 25 लाख है। यह दावा है स्वास्थ्य विभाग का। विभाग ने आंकड़े जारी कर इस दावे को पुष्ट करने का भी प्रयास किया है।