city-and-states

अलीगढ़ः जहरीली शराब कांड में जेल गईं पूर्व ब्लॉक प्रमुख की मौत

जहरीली शराब कांड में जेल भेजी गईं मुख्य आरोपियों में शामिल ऋषि शर्मा की पत्नी पूर्व ब्लॉक प्रमुख रेनू शर्मा की शुक्रवार रात मौत हो गई। बीमारी के चलते उन्हें हालत बिगड़ने पर जेएन मेडिकल कॉलेज लाया गया। मगर डॉक्टरों ने उन्हें देखते ही मृत घोषित कर दिया। परिवार ने जानबूझकर मौत का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। काफी देर तक शव को मेडिकल से नहीं निकलने दिया। परिवार का आरोप है कि जमानत के बाद उनकी रिहाई शुक्रवार को जमानती सत्यापन के फेर में टाली गई थी। लोधा के गांव करसुआ और जवां के छेरत में 28 मई की सुबह जहरीली शराब से मौतों का सिलसिला शुरू हुआ। इन्हीं मामलों में दर्ज मुकदमों में आरोपी शराब माफिया ऋषि शर्मा की पत्नी को जवां के एक मुकदमे में आरोपी बनाया गया था। घटना के कुछ दिन बाद ही रेनू शर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। उस वक्त वह गंभीर बीमारी से पीड़ित थीं। इधर, परिवार की ओर से बीमारी का हवाला देकर उन्हें जेल में उपचार न मिलने की दलील अदालत व पुलिस प्रशासन में दी गई। बेटे विनय के अनुसार, तमाम प्रयास के बाद हालत ज्यादा बिगड़ने पर उन्हें 9 नवंबर को जेएन मेडिकल कॉलेज दाखिल किया गया था। दो दिसंबर को जेएन मेडिकल कॉलेज से छुट्टी कराकर जेल ले जाया गया। तीन दिसंबर की देर रात उन्हें कारागार से फिर जेएन मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने देखते ही मृत घोषित कर दिया। इस खबर पर परिवार के तमाम सदस्य व समर्थक मेडिकल कॉलेज पहुंच गए। बेटे का आरोप है कि मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर ने उन्हें जानकारी दी है कि उन्हें मृत अवस्था में ही लाया गया है। मुंह से झाग निकल रहा था, यह उन्हें जानबूझकर मारने की साजिश रची गई है। बेटे के अनुसार, उनकी मां की जमानत मंजूर हो गई थी। शुक्रवार को रिहाई होना तय था। मगर एक जमानती का पुलिस ने जानबूझकर सत्यापन एक पुराने मुकदमे के चलते नहीं किया। इसके चलते जमानती बदला गया और अब शनिवार को रिहाई हो सकती थी। इसी बीच यह मौत इसी ओर इशारा कर रही है। इसे लेकर परिवार की ओर से हंगामा किया गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया था। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस के अनुसार मौत का मेमो प्राप्त हो गया है। बाकी पोस्टमार्टम आदि की प्रक्रिया कराई जाएगी। - जेएन मेडिकल में भर्ती बंदी रेनू शर्मा को बृहस्पतिवार सुबह जेल दाखिल किया गया था। देर रात हालत बिगड़ने पर फिर आनन-फानन मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। मगर वहां मृत घोषित कर दिया गया। अब पूरे मामले में मजिस्ट्रेटी जांच होगी। शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।-विपिन मिश्रा, वरिष्ठ अधीक्षक कारागार

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Dec 04, 2021, 01:54 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


अलीगढ़ः जहरीली शराब कांड में जेल गईं पूर्व ब्लॉक प्रमुख की मौत