city-and-states

अर्चना की जगह इशरत के शव का कर दिया अंतिम संस्कार, बेटों ने किया हंगामा, यूं खुला पूरा मामला

इससे बड़ी लापरवाही और क्या हो सकती है कि एक परिवार अपनी मां को ही नहीं पहचान सका और उसकी जगह दूसरी महिला के शव का दाह संस्कार कर दिया। खास बात तो यह है कि महिला दूसरे समुदाय की थी। ऐसे में जब उसके परिवारीजनों ने अपनी मां का शव मांगा तो मामला सामने आया। उन्होंने लखनऊ के विभूतिखंड पुलिस से शिकायत भी की। बाद में धर्मगुरुओं के समझाने पर दोनों परिवार शांत हुए। गोमतीनगर के सहारा अस्पताल में भर्ती विवेक खंड निवासी जेके गर्ग की पत्नी अर्चना (70) को न्यूरो की समस्या था। उन्हें न्यूरो मेडिसिन विभाग की आईसीयू में भर्ती कराया गया था। 11 फरवरी को उनकी मौत हो गयी। उसी दिन अलीगंज निवासी तकरी रजा की पत्नी इशरत मिर्जा (73) की भी मौत हुई थी। दोनों शव मर्च्युरी में रखवा दिए। अर्चना के परिवारीजन दोपहर को एक शव को अपनी मां की लाश समझकर ले गए। यह शव इशरत का था। सिर्फ इतना ही नहीं अगली सुबह अर्चना के परिवारीजनों ने शव का हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार भी कर दिया।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Feb 14, 2020, 16:45 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




अर्चना की जगह इशरत के शव का कर दिया अंतिम संस्कार, बेटों ने किया हंगामा, यूं खुला पूरा मामला #DeadBody #Carelessness #Cremation #LucknowPolice #UttarPradeshPolice #ShineupIndia