business

कोराना के बाद भी बढ़ा देश का विदेशी पूंजी भंडार, बढ़कर हुआ 37 लाख करोड़ रुपये

कोरोना वायरस के बीच देश के लिए अच्छी खबर है कि हमारे विदेशी मुद्रा भंडार में बढ़ोतरी हो रही है। देश का विदेशी पूंजी भंडार 29 मई को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान 3.43 अरब डॉलर की वृद्धि के साथ 37 लाख करोड़ों रुपये यानी (493.48 अरब डॉलर) पर पहुंच गया। विदेशी मुद्रा में बढ़ोतरी से पूंजी भंडार में यह रिकॉर्ड बढ़ोतरी है। विदेशी पूंजी भंडार में यह बढ़ोतरी ऐसे वक्त में हुई है जब पूरा देश वैश्विक महामारी की वजह से बुरी तरह प्रभावित है। बता दें, कि विदेशी पूंजी भंडार में विदेशी मुद्रा भंडार स्वर्ण भंडार स्पेशल ड्राइंग राइट्स (एसडीआर) और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में भारतीय भंडार शामिल होते हैं। आरबीआई ने बताया कि देश का विदेशी पूंजी भंडार 22 मई को समाप्त हफ्ते के दौरान 490.04 अरब डॉलर था। साप्ताहिक आधार पर विदेशी पूंजी भंडार का सबसे अहम हिस्सा विदेशी मुद्रा भंडार 29 मई को समाप्त सप्ताह में 3.50 अरब डॉलर बढ़कर 455.21 अरब डॉलर हो गया है। हालांकि देश के स्वर्ण भंडार का मूल्य 9.7 करोड़ डॉलर घटकर 32.682 अरब डॉलर पर आ गया है। स्पेशल ड्राइंग राइट्स एसडीआर मूल्य 1.43 अरब डॉलर पर बरकरार रहा। देश का आईएमएफ भंडार 158 अरब डॉलर हो गया है। आरबीआई साप्ताहिक आधार पर पेश करता है आंकड़े कोरोना संकट के बीच विदेशी मुद्रा भंडार में इस बढ़ोतरी को काफी अच्छा माना जा रहा है। देश का विदेशी मुद्रा भंडार इससे पहले सप्ताह में तीन अरब डॉलर की बढ़त के साथ 490.04 अरब डॉलर पर आया था जो उस समय का उच्चतम स्तर था। विदेशी मुद्रा भंडार एक या एक से अधिक करेंसी में रखे जाते हैं। आमतौर पर भंडार डॉलर या यूरो में रखा जाता है। आरबीआई साप्ताहिक आधार पर इसके आंकड़े पेश करता है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jun 07, 2020, 10:53 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




कोराना के बाद भी बढ़ा देश का विदेशी पूंजी भंडार, बढ़कर हुआ 37 लाख करोड़ रुपये #ForeignCapitalReserve #ReserveBankOfIndia #Coronavirus #InternationalMonetaryFund #ShineupIndia