city-and-states

जमातियों के संपर्क में आए पश्चिमी यूपी के 38 हजार लोग रडार पर, सर्विलांस से हो रही तलाश

कोरोना वायरस की चेन तोड़ने के लिए सरकार युद्ध स्तर पर प्रयास कर रही है। इसके लिए अब यूपी एसटीएफ को भी लगा दिया गया है। एसटीएफ ने 27 मार्च को दिल्ली निजामुद्दीन मरकज के आसपास के मोबाइल टावरों के बेस ट्रांससीवर स्टेशन (बीटीएस) का डाटा उठाया है। जिसमें तीन लाख से ज्यादा मोबाइल नंबरों की उस दिन की रनिंग लोकेशन मिली। एसटीएफ ने इन सभी की आईडी की जांच करने के बाद वेस्ट यूपी के निकले मोबाइल नंबरों का रिकॉर्ड छांटा तो करीब 38 हजार लोगों का जमातियों से कहीं न कहीं संपर्क निकला। मेरठ जोन के आठ जिलों की बात करें तो इनमें से 14,342 लोगों को रडार पर लेकर इनकी तलाश की जा रही है। कोरोना वायरस से लोगों को बचाने के लिए केंद्र और राज्य सरकार के प्रयास सराहनीय हैं। प्रधानमंत्री द्वारा 21 दिन का लॉकडाउन कर लोगों से घरों में रहने और सोशल डिस्टेंस बनाए रखने की अपील की जा रही है। वहीं, निजामुद्दीन मरकज से निकले जमातियों की पूरे उत्तर प्रदेश में सरगर्मी से तलाश की गई।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Apr 27, 2020, 11:08 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




जमातियों के संपर्क में आए पश्चिमी यूपी के 38 हजार लोग रडार पर, सर्विलांस से हो रही तलाश #Coronavirus #CoronavirusIndia #UpNews #LatestNews #Jamati #CoronaNewCase #CoronaUpdateInIndia #WestUpCoronaUpdate #ShineupIndia