city-and-states

#LadengeCoronaSe: कोरोना संक्रमितों के बीच जोखिम में जान, फिर भी संभाल रहे कमान

कोरोना महामारी के इस भयंकर दौर में डॉक्टरों से लेकर तमाम स्वास्थ्यकर्मी और सफाईकर्मी अपनी ड्यूटी मुस्तैद हैं। कोरोना वायरस को हराने के लिए यह योद्धा जान जोखिम में डालकर जुटे हुए हैं। अमर उजाला ऐसे लोगों के जज्बे को सलाम करते हुए पाठकों से रूबरू करा रहा है। #Ladengecoronase : दिल्ली में कोरोना योद्धा बनकर गर्भवती बेटी कर रही सेवा, देहरादून में परिजन चिंतित सचिन व्यास, नर्सिंग ऑफिसर राजकीय दून मेडिकल अस्पताल में नर्सिंग ऑफिसर सचिन व्यास कोरोना संक्रमितों के बीच पिछले कई महीने से कार्य कर रहे हैं। स्टाफ की कमी की वजह से कई बार उन्हें दूसरे कर्मचारियों का कार्य भी करना पड़ता है। उनका कहना है कि बहुत बुरे दौर में स्वास्थ्यकर्मी कार्य कर रहे हैं। मरीज और उनके तीमारदार सकारात्मक सोचें। कई लोग ठीक होकर भी जा रहे हैं। कोरोना के चलते पिछले कई महीने से सचिन अपने घर भी नहीं जा पाए हैं। अमरजीत यादव, वार्ड ब्वाय ड्यूटी दून अस्पताल की इमरजेंसी में है। कई बार 12 घंटे तक भी काम करना पड़ता है। अमरजीत ने बताया कि आजकल इमरजेंसी में मरीजों का बहुत दबाव है। परिजनों और मरीजों को समझाना बहुत मुश्किल हो रहा है। अस्पताल में बेड न होने की स्थिति में कई बार परिजन स्टाफ से झगड़ते हैं। फिर भी उन्हें समझा-बुझाकर हकीकत से रूबरू कराया जाता है। अमरजीत लोगों को सकारात्मक सोच रखने की सलाह देते हैं।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: May 04, 2021, 16:11 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »

कोरोना महामारी के इस भयंकर दौर में डॉक्टरों से लेकर तमाम स्वास्थ्यकर्मी और सफाईकर्मी अपनी ड्यूटी मुस्तैद हैं।