city-and-states

अमर उजाला एक्सक्लूसिव: उत्तराखंड में कोरोना की आयुर्वेदिक दवा का ट्रायल अटका

कोरोना के आयुर्वेदिक इलाज का दावा करने वाली उत्तराखंड की औषधि को केंद्र व राज्य सरकार ने तो ट्रायल की अनुमति दे दी, लेकिन दून मेडिकल कॉलेज में मामला लटक गया। नियमों के पेच में दो महीने से ट्रायल लटका हुआ है। मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने दवाई बनाने वाले डॉ. राजेश अदाना को नियमों की एक और फेहरिस्त थमा दी है, जिससे वे मायूस हैं। दरअसल, राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय पौड़ी के मेडिकल ऑफिसर डॉ. राजेश अदाना ने कोविड के लक्षणों का उपचार करने वाली तीन आयुर्वेदिक दवाओं के मिश्रण से यह दवाई तैयार की है। उन्होंने अपना प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा था, जिसे स्वीकार कर लिया गया था। चयनित होने वाला उनका प्रस्ताव प्रदेश का एकमात्र है। डॉ. अदाना ने बताया कि इसके बाद उन्होंने प्रदेश के आयुष विभाग से ट्रायल की अनुुमति मांगी, जो स्वीकार हो गई। चूंकि एलोपैथिक इलाज वाले अस्पताल में ही ट्रायल हो सकता है, इसलिए उन्होंने राज्य के स्वास्थ्य विभाग से अनुमति मांगी। इस पर दून मेडिकल कॉलेज में ट्रायल की अनुमति दी गई। उन्होंने दून मेडिकल कॉलेज से संपर्क साधा तो उन्होंने मामला अपनी एथिकल कमेटी को भेज दिया। एथिकल कमेटी ने यह मामला डायरेक्टरेट ऑफ हेल्थ रिसर्च को भेज दिया।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Sep 16, 2020, 11:32 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




अमर उजाला एक्सक्लूसिव: उत्तराखंड में कोरोना की आयुर्वेदिक दवा का ट्रायल अटका #कोरोना #कोविड-19 #CoronavirusInUttarakhand #Covid19InIndia #CoronavirusIndia #Covid19 #CoronavirusInDehradun #Coronavirus #कोरोनावायरस #CoronavirusInIndia #CoronaInUttarakhand #CoronaAyurvedicMedicine #Exclusive #एक्सक्लूसिव #ShineupIndia