city-and-states

उत्तराखंड में कोरोना: हरिद्वार में की गई सबसे ज्यादा सैंपल जांच, लेकिन संक्रमण दर सबसे कम

हरिद्वार मेंबीते 10 सप्ताह में हरिद्वार जिले में पूरे प्रदेश से 38 प्रतिशत टेस्ट किए गए लेकिन संक्रमण राज्य से 60 प्रतिशत कम रही है। फर्जीवाड़े की जिलाधिकारियों हरिद्वार के माध्यम से जांच की जा रही है। सोशल डेवलपमेंट फॉर कम्युनिटी फाउंडेशन के अध्यक्ष अनूप नौटियाल का कहना है कि सरकार व स्वास्थ्य विभाग को संक्रमण दर के आधार पर जांच करनी चाहिए। चार अप्रैल से 12 जून तक यानी 10 सप्ताह में हरिद्वार जिले में 3-प्रतिशत ज्यादा टेस्ट किए गए। उत्तराखंड में कोरोना: 24 घंटे में 263 नए संक्रमित मिले, सात की मौत, 629 मरीज हुए ठीक इसके बावजूद भी सैंपल जांच के आधार पर हरिद्वार की संक्रमण दर प्रदेश से 60 प्रतिशत कम रही। उन्होंने कहा कि सैंपल जांच में गड़बड़ी हुई तो इसका बड़े पैमाने पर असर पर पड़ सकता है। 10 सप्ताह में कुल 882382 सैंपलों की जांच की गई। जिसमें 35168 लोग संक्रमित मिले। इसके आधार पर हरिद्वार संक्रमण सबसे कम 3.99 प्रतिशत रही। विभागीय प्रारंभिक जांच में पाया गया कि कुंभ मेले के दौरान एक कंपनी ने रैपिड एंटीजन सैंपल जांच में गड़बड़ी की थी।एक ही मोबाइल नंबर व सैंपल आईडी नंबर से कई लोगों को निगेटिव रिपोर्ट तैयार की गई है। उन्होंने कहा कि सरकार व स्वास्थ्य विभाग को संक्रमण दर के हिसाब से पूरे मामले की जांच करनी चाहिए। जिससे संक्रमण का सही डाटा सामने आ सके।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Jun 13, 2021, 23:49 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


हरिद्वार मेंबीते 10 सप्ताह में हरिद्वार जिले में पूरे प्रदेश से 38 प्रतिशत टेस्ट किए गए लेकिन संक्रमण राज्य से 60 प्रतिशत कम रही है।