city-and-states

नगर निगम की लापरवाही, शहरवासियों पर भारी

नगर निगम ने सफाई और कचरा उठान का ठेका खत्म होने की पहले कोई व्यवस्था नहीं की, जिसका खामियाजा अब शहरवासियों को भुगतना पड़ रहा है। स्थिति यह है कि तीन दिन में 300 क्विंटल से ज्यादा कचरा स्मार्ट सिटी की सड़कों पर एकत्रित हो गया है, लेकिन सुध लेने वाला कोई नहीं है। शहरवासियों को अभी तीन-चार दिन गंदगी से निजात मिलने की आस नहीं है। नगर निगम करनाल के अधीन सफाई करने वाले ठेकेदारों का ठेका 31 जुलाई को खत्म हो गया। ऐसे में शहर से कचरा उठान का काम ठप पड़ा है। अब मात्र 350 कर्मियों से सेक्टरों और अन्य स्थानों से टिपरों के माध्यम से करीब 120 क्विंटल की कचरे का उठान हुआ है, जबकि 300 क्विंटल से अधिक कचरे का उठान नहीं हो सका है। आने वाले चार दिनों में अभी समस्या खत्म होने की उम्मीद भी नहीं है, बल्कि स्थिति और गंभीर हो सकती है। अब पे-रोल कर्मचारियों की नियुक्ति के बाद ही राहत मिलने की उम्मीद है, जिसमें चार दिन का समय लगने की संभावना जतायी जा रही है। इसके बाद ही 600 कर्मियों के आने की उम्मीद है। तब तक शहर की सड़कों पर एक हजार क्विंटल से ज्यादा कचरा फैल चुका होगा। चार दिनों के बाद निगम को पे-रोल के कर्मियों के तो मिलने की उम्मीद है, लेकिन संसाधनों का टेंडर 14 अगस्त के बाद ही खुलेगा। बिना संसाधनों के कर्मियों के आने से भी उठान में गति नहीं आएगी।शहर के लोगों ने सुनाई पीड़ाशहर के लोगों ने गदंगी को लेकर अपनी पीड़ा व्यक्ति की। लोगों का कहना है कि अब उनकी न तो अधिकारी सुन रहे हैं और न ही पार्षदों से कोई हल हो पा रहा है। जाटों गेट निवासी रणबीर अरोड़ा ने बताया कि त्योहार में घर पर रिश्तेदार आए हुए थे। ऐसे में शहर में सफाई न होने के कारण काफी शर्म महसूस हुई।जुंडला गेट निवासी रोहताश ने बताया कि स्थिति काफी गंभीर हो गई है। हर गली में कचरे के ढेर लग गए हैं। पार्षदों को कहने के बाद भी का समस्या का समाधान नहीं हुआ। अधिकारी फोन नहीं उठा रहे।निगमायुक्त निशांत कुमार यादव से बातचीतनिगमायुक्त एवं डीसी निशांत कुमार ने बताया कि ट्रैक्टर-ट्राली और अन्य साधनों के लिए टेंडर लगाया हुआ है। पे-रोल के कर्मियों की छंटनी प्रक्रिया चल रही है। 350 तय हो चुके हैं। 250 के तय होने का काम फाइनल स्तर पर है। दो-तीन दिन में समस्या हल हो जाएगी।यहां हर गली में लग गए गंदगी के ढेरनेहरू मार्केट, जाटों गेट, जुंडला गेट, रेलवे स्टेशन, बैंक कालोनी के सामने, राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के बाहर, पुराने सब्जी मंडी में गंदगी ढेर लगे मिले।व्यवस्था के लिए निगम के पास संसाधननगर निगम के पास वर्तमान में 48 टिपर, 6 डंपर पलेसर और 4 रिफ्यूज कंपेक्टर हैं। इसके अलावा सफाई कर्मचारियों की बात करें तो 179 रेगुलर और 176 कर्मचारी पॉलिका रोल पर हैं।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Aug 04, 2020, 02:39 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »

Read More:
Civic



नगर निगम की लापरवाही, शहरवासियों पर भारी #Civic #ShineupIndia