city-and-states

चंडीगढ़ ने नगालैंड के खिलाफ अंतिम मैच जीता

चंडीगढ़। आंध्र प्रदेश स्थित कडप्पा में खेला जा रहा बीसीसीआई वुमेंस अंडर-19 टूर्नामेंट संपन्न हो गया। प्लेट ग्रुप के अंतिम लीग मैच में वीरवार को चंडीगढ़ ने एक रोमांचक मैच में नगालैंड को दो विकेट से हराया।नगालैंड के दिए 116 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए चंडीगढ़ ने पारी में 14 गेंदें शेष रहते आठ विकेट के नुकसान पर लक्ष्य पूरा कर लिया। इस जीत के साथ चंडीगढ़ की टीम पूरे टूर्नामेंट में सात जीत हासिल करके 28 अंकों के साथ तालिका में तीसरे स्थान पर रही।नगालैंड ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। चंडीगढ़ की कसी हुई गेंदबाजी के चलते नगालैंड ने बेहद धीमी गति से रन बनाए और उनकी टीम 19वें ओवर तक मात्र बीस रन ही जुटा पाई। ज्योति कुमारी ने 19वें ओवर में टीम को पहली सफलता तब दिलाई जब उन्होंने सलामी बल्लेबाज नबिला (13) को आउट किया। पारी के 25वें ओवर में पारुषि प्रभाकर ने दीप्ति (18) को क्लीन बोल्ड करके स्कोर को दो विकेट के नुकसान पर 45 रन किया। अगले ही ओवर में शिवाली ने गेंदबाजी की कमान संभाली और अंतिमा त्योतिया (1) को आउट किया। पूरे टूर्नामेंट मेें बल्ले से कमाल कर चुकी पारुषि इस बार गेंदबाजी से भी कमाल कर गई। पारी के 31वें ओवर में गुंजन (4) को क्लीन बोल्ड करके अपना दूसरा विकेट लिया और इस विकेट के पतन से नगालैंड का स्कोर चार विकेट के नुकसान पर 63 रन पर ला दिया। इसके बाद स्वाति त्यागी और सपना ने विकेटों के पतन को रोकते हुए महत्वपूर्ण 33 रनों की सांझेदारी निभाई। शिवाली ने 40वें ओवर में सपना (16) को आउट करके खतरनाक दिख रही साझेदारी का अंत किया जिससे आधी टीम 96 रन पर आउट हो गई।चंडीगढ़ ने कसी हुई गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए अगले दस ओवर में नगालैंड को मात्र 19 रन ही जुटाने दिए और पूरी टीम को 115 रन पर ढेर कर दिया। काशवी गौतम ने तालीरेनला को शून्य और स्वाति त्यागी को 55 रन पर आउट किया। वहीं शिवाली ने ऋतु को शून्य और पारुषि ने अनमेनला को तीन रन पर आउट किया। ज्योति कुमार ने प्रियंका को एक रन पर आउट करके पूरी टीम को समेटा। पारुषि और शिवाली ने तीन-तीन और काशवी और ज्योति कुमारी ने दो-दो विकेट चटकाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी चंडीगढ़ की टीम को सलामी बल्लेबाज पारुषि प्रभाकर (8) सही दिशा नहीं दे पाई। वह पारी के आठवें ओवर में गुंजन का शिकार हुई। उस समय टीम का स्कोर 19 रन था। मैच के 15वें ओवर में मेहुल (5) को स्वाति ने क्लीन बोल्ड करके चंडीगढ़ का स्कोर दोे विकेट के नुकसान पर 28 रन पर ला दिया। सिमरन जोहल और काशवी गौतम ने पारी को संभालते हुए 27 रन की छोटी-सी साझेदारी करके स्कोर को 55 रन तक पहुंचाया। इसके बाद 77 गेंदों का सामना करके 18 रन पर खेल रही सलामी बल्लेबाज सिमरन को सपना ने आउट किया। सिमरन के आउट होने के बाद विकेटों के गिरने का सिलसिला शुरू हुआ। 30वें ओवर में प्रियंका की गेंद पर शिवाली (0) एलबीडब्ल्यू का शिकार हो गई। तब स्कोर चार विकेट के नुकसान पर 57 रन था। नौ रन के बाद ही प्रियंका ने काशवी (19) को आउट किया। इस वक्त 66 रन पर आधी टीम आउट हो चुकी थी। फिर 40वें ओवर में प्रियंका ने आक्रामक तेवर दिखाते हुए करमन प्रीत संधू (1) और अनीता (0) को एक ही ओवर में आउट कर स्कोर को सात विकेट के नुकसान पर 72 रन पर ला खड़ा किया।ज्योति की नाबाद 44 रन की पारी से संभला चंडीगढ़अंतिम क्षणों में रमीजा बेगम ने ज्योति कुमारी के साथ महत्वपूर्ण 24 रन की साझेदारी करके स्कोर को 96 रनों तक पहुंचाया। मैच के 40वें ओवर में रमीजा (5) प्रियंका का पांचवां शिकार बनी। फिर भी ज्योति के नाबाद 44 रन की बदौलत चंडीगढ़ ने 14 गेंद शेष रहते 48वें ओवर में 118 रन जड़ कर मैच जीत लिया। विपक्ष की ओर से प्रियंका ने 22 रन देकर सर्वाधिक पांच विकेट चटकाए।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Mar 13, 2020, 02:06 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




चंडीगढ़ ने नगालैंड के खिलाफ अंतिम मैच जीता #Sports #SportsNews #SportsNewsInHindi #ShineupIndia