city-and-states

सड़ा गेहूं बांटने का मामला: चंडीगढ़ प्रशासन ने दिए खराब गेहूं को वापस लेने के आदेश, एफसीआई नॉर्थ जोन टीम करेगी जांच  

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) के तहत बांटे गए खराब गेहूं को चंडीगढ़ प्रशासन वापस लेगा। प्रशासक के सलाहकार धर्मपाल ने खाद्य विभाग के सचिव विनोद पी कावले को आदेश दे दिया है। उधर, एफसीआई से यह चूक कैसे हुई, इसकी जांच भी शुरू हो गई है। एफसीआई नॉर्थ जोन (नोएडा) की टीम ने चंडीगढ़ पहुंचकर पूरे मामले की तहकीकात की। प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना में इतने बड़े स्तर पर चूक से अधिकारियों के हाथ-पांव फूले हुए हैं। योजना के तहत खराब गेहूं बांटने का मामला तूल पकड़ चुका है। खाद्य विभाग से लेकर भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) तक की कार्यप्रणाली सवालों में है। प्रशासन पूरी तरह गंभीर है और फूड इंस्पेक्टरों, एजेंसी समेत कई लोगों को नोटिस जारी कर दिया है। वहीं, जिन लोगों तक खराब गेहूं पहुंचा है, उसे भी वापस लेने की कवायद की जा रही है। प्रशासक के सलाहकार धर्मपाल ने खाद्य विभाग के सचिव विनोद पी कावले को आदेश दिया है कि जिन लोगों तक खराब गेहूं पहुंचा है, उनसे वापसी कराई जाए। यह भी पढ़ें -सिगरेट के फेंके टुकडे़ ने बदली जिंदगी: मोहाली के युवा ने आपदा को अवसर में बदला, यूट्यूब से बने माहिर सलाहकार धर्मपाल ने हैरानी जताते हुए कहा है कि चंडीगढ़ जैसे शहर में इस तरह की घटना नहीं होनी चाहिए थी। गांव या पिछड़े इलाकों में इस तरह की घटनाएं सुनीं थीं, लेकिन चंडीगढ़ में खराब गेहूं बांट दिया गया, ये बेहद हैरान करने वाली और गलत बात है। लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई होगी। हर स्तर पर मामले की जांच की जा रही है। उधर, एफसीआई नॉर्थ जोन (नोएडा) की टीम ने राजपुरा और चंडीगढ़ में आकर मामले की जांच की है। खराब गेहूं को बदलने के लिए लोग अपने इलाके के पार्षदों व राजनेताओं को संपर्क कर रहे हैं। कुछ लोगों की समस्या यह है कि उन्होंने गेहूं को पिसवा लिया है। वह चिंतित हैं कि आटे में से बदबू आ रही है तो वह क्या करें।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Sep 15, 2021, 12:53 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) के तहत बांटे गए खराब गेहूं को चंडीगढ़ प्रशासन वापस लेगा।