international

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन त्रूदो ने कहा- 'चीन में मानवाधिकार उल्लंघन के खिलाफ मजबूती से डटे रहेंगे'

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन त्रूदो ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार चीन में मानवाधिकार उल्लंघनों के खिलाफ मजबूती से डटी रहेगी। कनाडा में चीन के राजदूत ने गुरुवार को ओटावा को हांगकांग छोड़कर आ रहे लोगों को शरण नहीं देने के लिए चेतावनी दी थी। ओटावा में चीन के राजदूत कांग पाइवु ने कहा कि अगर कनाडा हांगकांग में रहने वाले तीन लाख कनाडाई नागरिकों के बारे में और वहां कारोबार कर रहीं कंपनियों के बारे में सोचता है, तो उसे चीन के हिंसा से लड़ने के प्रयासों में सहयोग करना होगा। त्रूदो ने कहा कि हम मानवाधिकारों के समर्थन में मजबूती से डटे रहेंगे। वह चाहे उइगर समुदाय की परेशानियों के बारे में हो या फिर हांगकांग की चिंताजनक स्थिति के बारे में या फिर चीन की बलपूर्वक कूटनीति के बारे में हो। त्रूदो ने कहा कि कनाडा, दुनिया भर में मानवाधिकार उल्लंघनों के प्रति चिंतित अपने सहयोगियों अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन, यूरोपीय देशों के साथ खड़ा है। वहीं कनाडा में विपक्षी कंजर्वेटिव नेता इरिन ओटूले ने एक लिखित बयान में कहा कि 'चीनी राजदूत को माफी मांगनी चाहिए या फिर उन्हें कनाडा से निष्कासित कर दिया जाना चाहिए। चीनी राजदूत ने अपने कार्यालय के असभ्य बयानबाजी में जुटे रहने का फैसला किया है।' उन्होंने कहा कि 'चीनी राजदूत का बयान सीधे-सीधे हांगकांग में रह रहे तीन लाख कनाडाई लोगों को धमकानेकी तरह है।'

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Oct 18, 2020, 03:18 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन त्रूदो ने कहा- 'चीन में मानवाधिकार उल्लंघन के खिलाफ मजबूती से डटे रहेंगे' #World #International #JustinTrudeau #CanadianPrimeMinister #China #HumanRightsViolations #ShineupIndia