city-and-states

घर पर रहेंगे, खेत पर रहेंगे, मगर चुप नहीं रहेंगे.., लाॅकडाउन में कृषि संकट से उबरने को भाकियू ने केंद्र सरकार से मांगे 1.5 लाख करोड़

अंतरराष्ट्रीय किसान दिवस के अवसर पर शुक्रवार को भारतीय किसान यूनियन और भारतीय किसान आंदोलन समेत अन्य तमाम किसान संगठनों ने अपने कृषि यंत्रों के फोटो खींचकर और हैशटैग 'घर पर रहेंगे, खेत पर रहेंगे मगर चुप नहीं रहेंगे' के साथ सोशल मीडिया पर शेयर कर सरकार का ध्यान अपनी मांगों की और आकर्षित किया। साथ हीभारतीय किसान यूनियन ने केंद्र सरकार से कोविड-19 के चलते हुए लॉक डाउन में कृषि को संकट से उबारने और किसानों के कल्याण लिए अलग से एक विस्तृत पैकेज 1.5 लाख करोड घोषित करने की मांग की है। किसी ने अपने घर के गेट पर तो किसी ने खेत पर अपने ट्रैक्टरों और अन्य कृषि यंत्रों के साथ फोटो खींचे। भारतीय किसान आंदोलन के अध्यक्ष कुलदीप त्यागी ने ट्रैक्टर और फावड़े के साथ फोटो शेयर करते हुए लाॅकडाउन में किसानों को क्षतिपूर्ति के लिए आर्थिक पैकेज देने, किसानों को पूर्णतया कर्जमुक्त करने, बिजली फ्री करने, किसानों पर देय ब्याज और पेनाल्टी माफ करने की मांग की।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Apr 17, 2020, 19:39 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »




घर पर रहेंगे, खेत पर रहेंगे, मगर चुप नहीं रहेंगे.., लाॅकडाउन में कृषि संकट से उबरने को भाकियू ने केंद्र सरकार से मांगे 1.5 लाख करोड़ #CoronavirusTreatment #CoronavirusInMeerut #Coronavirus #CoronavirusIndia #CoronaNewCase #CoronaUpdateInIndia #WestUpCoronaUpdate #ShineupIndia