city-and-states

महाविद्यालय थलीसैण में जल्द शुरु होगा स्ववित्त पोषित बीएड पाठ्यक्रम: डा. धन सिंह

पौड़ी। उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि राजकीय महाविद्यालय थलीसैंण में जल्द ही स्ववित्त पोषित बीएड पाठ्यक्रम शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के महाविद्यालयों को दो अक्तूबर से वाई-फाई सुविधा से भी जोड़ लिया जाएगा। शुक्रवार को प्रदेश के उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत अपनी विधानसभा क्षेत्र श्रीनगर के भ्रमण पर रहे। उन्होंने विधानसभा क्षेत्र के थलीसैंण व त्रिपालीसैंण में कोरोना काल के दौरान बेहतर कार्य करने वाली आशा कार्यकर्ताओं और भोजन माताओं को सम्मानित किया। डॉ. रावत ने थलीसैंण में बाजार के सौंदर्यीकरण तथा राजकीय प्राथमिक विद्यालय कोकली भवन के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया। मंत्री ने राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र थलीसैंण, चाकीसैंण में उप स्वास्थ्य केंद्र के हेल्थ वेलनेस सेंटर का लोकार्पण भी किया। उच्च शिक्षा राज्य मंत्री ने राजकीय महाविद्यालय मजरा महादेव, पैठाणी में निर्माणाधीन व्यवसायिक महाविद्यालय का निरीक्षण भी किया। डा. धन सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार उच्च शिक्षण संस्थानों को स्मार्ट क्लास के रूप में तैयार कर रही है। इस मौके पर महाविद्यालय थलीसैंण की प्राचार्य डा. लवली रानी राजवंशी, भाजपा जिलाध्यक्ष संपत सिंह रावत, प्रदेश उपाध्यक्ष सहकारी संघ मातबर सिंह रावत, जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष नरेंद्र सिंह रावत, डीईओ बेसिक केएस रावत आदि मौजूद रहे। घाटे में चल रही समितियां होंगी मर्ज : धन सिंहबहुउद्देशीय साधन सहकारी समितियों की बैठक में बोले उच्च शिक्षा मंत्रीकहा, घाटे से उबरने पर समितियों को फिर पृथक किया जाएगासंवाद न्यूज एजेंसीसतपुली। उच्च शिक्षा और सहकारिता राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने शुक्रवार को द्वारीखाल एवं एकेश्वर ब्लॉक की बहुउद्देशीय साधन सहकारी समितियों के अध्यक्षों एवं सचिवों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि घाटे की समितियों को मर्ज किया जाएगा। पौड़ी रोड स्थित एक लॉज में आयोजित बैठक में मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने घाटे में चल रही सहकारी समितियों को अस्थायी रूप से आपस में मर्ज करने के लिए सचिवों से सुझाव मांगे। उन्होंने कहा कि उक्त समितियों को अस्थायी रूप से मर्ज करने पर कर्मियों की कमी के साथ ही समितियों को घाटे से उबारने में भी मदद मिलेगी। घाटे से उबरने पर समितियों को दोबारा पृथक कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी समितियों को लाभ में लाने के लिए एक करोड़ रुपये का कारोबार आवश्यक रूप से करना होगा। विभाग की ओर से पैक्स नियमावली तैयार की जा रही है, जिसमें एक फीसदी मुनाफा समितियों को दिया जाएगा। कहा कि समितियां एक करोड़ रुपये तक का प्रोजेक्ट करें। इसके लिए उन्हें एक प्रतिशत ब्याज पर लोन दिया जाएगा। इसमें सचिव को दो और क्लर्क को मुनाफे में एक फीसदी हिस्सेदारी दी जाएगी। जिला सहकारी बैंक गढ़वाल के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में हुई बैठक में सचिव/महाप्रबंधक डॉ. मनोज कुमार, भाजपा जिलाध्यक्ष संपत सिंह रावत, भाजपा नेता वेद प्रकाश वर्मा समेत द्वारीखाल एवं एकेश्वर ब्लॉक की समितियों के अध्यक्ष एवं सचिव मौजूद रहे। बैठक का संचालन सहायक निबंधक पौड़ी मदनलाल टम्टा ने किया। -फोटो

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Aug 07, 2020, 20:51 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »

Read More:
Self-employment1



महाविद्यालय थलीसैण में जल्द शुरु होगा स्ववित्त पोषित बीएड पाठ्यक्रम: डा. धन सिंह #Self-employment1 #ShineupIndia