national

नसीहत: पांच राज्यों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर भड़के सिब्बल, बोले- एक भी सीट नहीं बचा पाई पार्टी, अपने अंदर झांके

देश के चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में विधानसभा चुनाव परिणाम आने के कुछ दिनों बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल अपनी ही पार्टी पर भड़क गए। सिब्बल ने कांग्रेस पार्टी को नसीहत देते हुए कहा कि पार्टी को बंगाल में एक भी सीट नहीं मिली। असम और केरल में भी पार्टी विफल रही। पुडुचेरी भी कांग्रेस के हाथ से निकल गया, ऐसे में पार्टी को अपने अंदर झांकने की जरूरत है। कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने बेहद खराब प्रदर्शन किया है। कांग्रेस पश्चिम बंगाल में एक भी सीट सुरक्षित नहीं कर सकी। असम और केरल में भी विफल रही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की लचर व्यवस्था ही है, जो केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी भी उसके हाथ से निकल गया। उन्होंने कहा कि अब जब पार्टी की ओर से आवाज उठाई जा रही है, तो इस मामले पर गौर किया जाना चाहिए। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि वे पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रदर्शन पर आगे कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि उचित समय पर इस मुद्दे पर बात करेंगे। उन्होंने कहा कि आज सभी दलों के सभी लोगों को कोरोना वायरस के बीच लोगों के जीवन को बचाने के लिए मिलकर काम करना चाहिए। सिब्बल ने कोरोना से निपटने में असफल रहने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, पीएम को यह कहना चाहिए कि हम महामारी के खिलाफ इस संघर्ष को जीतेंगे। हम सबको साथ आना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव अलग बात है, लेकिन यह जीवन और मृत्यु की लड़ाई है। कांग्रेस में विद्रोही जी-23 गुट में शामिले कपिल सिब्बल ने पिछले साल अगस्त में सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा था, जिसमें संगठनात्मक सुधार के लिए कहा था। वहीं अब कपिल सिब्बल ने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के प्रदर्शन को लेकर चिंता जाहिर की है। हालांकि, उन्होंने कोरोना महामारी से निपटने को प्राथमिकता दी है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: May 06, 2021, 12:43 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल अपनी ही पार्टी पर भड़क गए। सिब्बल ने कांग्रेस पार्टी को नसीहत देते हुए कहा कि पार्टी को बंगाल में एक भी सीट नहीं मिली, ऐसे में पार्टी को अपने अंदर झांकने की जरूरत है।