city-and-states

स्योनाली से मंजूपुरा तक 3.5 किमी सड़क पांच साल से टूटी

भले ही सरकार सड़कों की मरम्मत और गड्ढा मुक्त कारने को लेकर गंभीर है। लेकिन जिम्मेदार सरकार की उम्मीदों को पलीता लगा रहे हैं। जी हां स्योनाली से मंजूपुरा तक की साढ़े तीन किलो मीटर सड़क का यही हाल है। पिछले पांच साल से सड़क टूटी पड़ी हैं। स्थानीय लोगों ने इसकी कई बार शिकायत अधिकारियों व जन प्रतिनिधियों से की। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। नियम ये है कि पांच साल में सड़क टूट या उखड़ जाए तो संबंधित ठेकेदार उसकी मरम्मत कराएगा। लेकिन यहां तो सड़क की मरम्मत भी नहीं कराई गई। जिम्मेदारों की लापरवाही के कारण स्थानीय लोंगों को परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है। सड़क टूटी होने के कारण रोजाना हादसे हो रहे हैं। तीन दिन पहले बाइक सवार बुजुर्ग महिला की गिरकर मौत हो गई थी।ये सड़क जिला मुख्यालय से केवल 11 किलोमीटर दूर जोया ब्लाक क्षेत्र में पड़ती है। श्योनाली गांव नेशनल हाईवे किनारे हैं। यहां से ये सड़क पूरनपुर, चुबका होते हुए मंजूपुरा के लिए जाती है। करीब 3.5 किलोमीटर लंबी इस सड़क पर छह से अधिक गांव पड़ते हैं। जिनकी आबादी करीब 10 हजार है। ग्रामीणों की माने तो करीब पांच साल पहले प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनाई गई। लेकिन कुछ दिन बाद ही सड़क उखड़ने लगी। आज यह सड़क पूरी तरह उखड़ गई है। जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं। सड़क पर पड़े नुकीले पत्थर रोजाना हादसे का सबब बन रहे हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि कई बार जिलाधिकारी और क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों से सड़क की मरम्मत व निर्माण कराने के लिए कहा गया। लेकिन किसी ने कोई सुनवाई नहीं हुई। इसलिए अब कहना ही बंद कर दिया। इस सड़क पर रोजाना हादसे हो रही हैं। तीन दिन पहले बुजुर्ग महिला अपने भतीजे के साथ बाइक पर सवार होकर घर जा रही थी। लेकिन श्योनानी से निकलते ही सड़क पर बने गड्ढे में झटका लगने के कारण वह बाइक से नीचे गिर गई और उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Sep 23, 2022, 01:51 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


स्योनाली से मंजूपुरा तक 3.5 किमी सड़क पांच साल से टूटी