national

महाराष्ट्र : ओशो आश्रम के कुप्रबंधन की ईडी से जांच कराएंगे राज्यमंत्री आठवले

पुणे में आचार्य रजनीश ओशो आश्रम को बिकने से बचाने के लिए केंद्रीय समाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास आठवले ने भी जोर लगाया हैं। उन्होंने मुंबई में ओशो फ्रेंड्स फाउंडेशन की तरफ से आयोजित एक कार्यक्रम में शुक्रवार को कहा कि ओशो आश्रम का नुकसान देश का छति है। वे इसके कुप्रबंधन के खिलाफ ओशो के अनुयायियों की आवाज बनेंगे और आश्रम की संपत्ति बेचकर जो भी पैसा देश से बाहर गया है उसकी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से जांच कराएंगे। रामदास आठवले ने कहा कि हमारी पार्टी आरपाईआई ने हमेंशा ही बेजुबानों को आवाज दी है और आज मैं यहां सभी ओशो के अनुयायियों की आवाज बनने आया हूं। उन्होंने कहा, हम मानते हैं कि ओशो की संपत्ति उनके अनुयायियों की है और उसका लाभ उन्हें मिलना चाहिए। इसलिए मैं ओशो के अनुयायियों को आश्वासन देता हूं कि आश्रम में जो भी अंतर्राष्ट्रीय या विदेशी भ्रष्टाचार या कदाचार की गतिविधियां चल रही है, उसकी जांच के लिए ईडी से अनुरोध करूंगा। शुक्रवार को दक्षिण मुंबई के यशवंतराव चव्हाण ऑडिटोरियम सेंटर में शुक्रवार को ओशो करीब सौ अनुयायी इकट्ठा हुए। ओशो कीर्तन के बाद ओशो आश्रम को लेकर एक प्रजेंटेशन दिया गया। इससे स्वामी योगेश ने बताया कि किस तरह विदेश से ओशो की विरासत को बेचने का खेल हो रहा है। आश्रम की 20 एकड़ में से बिक गई 8 एकड़ जमीन पुणे के कोरेगांव पार्क में बने ओशो आश्रम की 20 एकड़ जमीन है जिसमें से 8 एकड़ जमीन मौजूदा निदेशकों के द्वारा बेची जा चुकी है। आश्रम का नाम बदलकर ओशो रिसार्ट रख दिया गया है और बुद्ध हॉल मे लगी बुद्ध की मूर्ति भी गायब हो गई है।

  • Source: www.amarujala.com
  • Published: Sep 25, 2021, 06:30 IST
पूरी ख़बर पढ़ें »


पुणे में आचार्य रजनीश ओशो आश्रम को बिकने से बचाने के लिए केंद्रीय समाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास आठवले ने भी जोर लगाया हैं।